Trending God Baba Ramdev pir: रामदेव पीर, भगवान रामदेवजी दूज, क्यों पुजते है जाने रोचक तथ्य 2022

0 0
Read Time:3 Minute, 28 Second

Trending God Baba Ramdev pir 2022

Trending God Baba Ramdev pir: रामदेव पीर भगवान रामदेवजी दूज क्यों पुजते है जाने रोचक तथ्य 2022

Trending God Baba Ramdev pir: रामदेव पीर भगवान रामदेवजी दूज क्यों पुजते है जाने रोचक तथ्य

India | Rajthan भारत के कोने कोने से बाबा रामदेवरा राजस्थान के जेसलमेर पहूच कर बाबा के दर्शन करते है भक्त।

भारत में आज के दिन बाबा की दूज बाबा रामदेवजी का जन्मोत्सव बडी ही धूम धाम से मनाया जाता है आज ही के दिन मेलो का आयोजन भी होता है।

भक्त बडी दूर दूर से दर्शन करने के लिये आते है भगवान बाबा रामदेवजी को पीरों का पीर भी कहा जाता है।

आपके द्वारा किये गये चमत्कार की कथा पूरे भारत के भक्त सूनते है उन भजनो को गाते है अपने जीवन को धन्य बनाते है।

आपके द्वारा राक्षस का विनाश किया गया आपके द्वारा अनेक जन हितैशी कार्य किये गये आपके द्वारा किये गये चमत्कार आज भी दूनिया में जाने जाते है। जब जब धरती पर पाप बढता है तब तब भगवान किसी न किसी रूप में आकर धरती पर अवतार लेकर पापीयों का नाश करते है आप भी उन्ही का एक रूप थे जीसे जन्म जन्मान्तर तक पूजे जावेंगे।

Trending God Baba Ramdev pir: रामदेव पीर भगवान रामदेवजी दूज क्यों पुजते है जाने रोचक तथ्य 2022

नाम भगवान रामदेव जी
अन्य नाम रामसा पीर, रूणीचा रा धणी, बाबा रामदेव
जन्म और जन्मस्थान चौत्र सुदी पंचमी, विक्रम संवत 1409, रामदेवरा
निधन (जीवित समाधी) भादवा सुदी एकादशी, विक्रम संवत 1442 (33 वर्ष), रामदेवरा
समाधी-स्थल रामदेवरा (रुणिचा नाम से विख्यात)
पिता का नाम अजमल जी तंवर
माता का नाम मैनादे
भाई-बहन भाई-बीरमदेव, बहिन-सगुना और लांछा
पत्नी नैतलदे
संतान सादोजी और देवोजी (दो पुत्र)
मुख्य-मंदिर रामदेवरा, जैसलमेर (राजस्थान)
प्रसिद्धि लोकदेवता, समाज सुधारक
वंश तंवर
सम्प्रदाय/पंथ कामड़िया
धर्म हिन्दू
घोड़े का नाम लीलो

Trending God Baba Ramdev pir: रामदेव पीर भगवान रामदेवजी दूज क्यों पुजते है जाने रोचक तथ्य 2022

बाबा रामदेव जी का पुराना इतिहास

जब भी पृथ्वी पर अधर्म, पाप, अस्यृश्यता ने मृत्युलोक पर अपना साम्राज्य स्थापित किया तब ईश्वर ने स्वयं प्रकट होकर पापों से पृथ्वी को मुक्त करवाया है। जब भी पृथ्वी पर पाप बढ़ाते हैं तब ईश्वर ने कभी राम, कभी कृष्ण, नृसिंह कच्छ, मच्छ आदि अनेकों रूपों में प्रकट होकर पृथ्वी को पाप युक्त किया है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *