भारत में रिकार्डतोड स्तर पर मनेगा गुडी पडवा एवं नवरात्री पर्व

0 0
Read Time:2 Minute, 13 Second

Thetimesofcapital/28/03/2022/ भारत में रिकार्डतोड स्तर पर मनेगा गुडी पडवा एवं नवरात्री पर्व

भारत में रिकार्डतोड स्तर पर मनेगा गुडी पडवा एवं नवरात्री पर्व
गुड़ी पड़वा 2022 तारीख
इस वर्ष महाराष्ट्र और गोवा के मूल निवासी 2 अप्रैल को अपना नया साल गुड़ी पड़वा मनाएंगे।

मराठी शाखा संवत 19:44 शुरू होगी।

गुड़ी पड़वा 2022 प्रतिपदा तिथि का समय
प्रतिपदा तिथि 1 अप्रैल को सुबह 11:53 बजे शुरू होती है, और 2 अप्रैल को सुबह 11:58 बजे समाप्त होती है।

जानीये गुड़ी पड़वा के महत्व के बारे में

एक पौराणिक कथा के अनुसार, भगवान ब्रह्मा ने इस दिन ब्रह्मांड की रचना की थी।
गुड़ी क्या है?

#भारत में #रिकार्डतोड #स्तर पर #मनेगा #गुडी #पडवा
गुड़ी एक झंडा है जो रावण पर श्री राम की विजय की याद दिलाता है।
लकड़ी की छड़ी का एक सिरा कपड़े से ढका होता है। इसके बाद नीम के पत्ते और साखर गाठी ;शक्कर की मालाद्ध बांधी जाती है।
कुछ लोग आम के पत्ते और एक फूल की माला डालते हैं।
फिर छड़ी के एक सिरे पर उल्टा कलश रखा जाता है।
गुड़ी पर हल्दी और कुमकुम लगाया जाता है।

पूजा के बाद घर के बाहर सूर्यास्त से पहले फहराया जाता है।

इसके पिछे क्या गुडी मनाने का क्या है कारण जाने

नीम एक दवा है एवं मिश्री ठण्डाई दोनो को ही दवा के रूप इस्तमाल किया जाता है।
नीम जीवन की दर्दनाक घटनाओं का प्रतीक है
जबकि मिश्री सुखद घटनाओं का प्रतिनिधित्व करती है।
यह मौलिक वास्तविकताओं को दर्शाता है और अच्छे और बुरे की उपस्थिति पर जोर देता है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.