Cheat cheating मध्यप्रदेश में खेल शिक्षक व खिलाड़ियों से धोंका

1 0
Read Time:6 Minute, 20 Second

म.प्र में खेल शिक्षक व खिलाड़ियों से धोंका

Cheat cheating मध्यप्रदेश में खेल में बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड

खेल शिक्षार्थियों की ज्वलंत समस्या के लिय दिया ज्ञापन

Cheat cheating मध्यप्रदेश में खेल शिक्षक व खिलाड़ियों से धोंका

मध्यप्रदेश सरकार के अपर संचालक लोक शिक्षण द्वारा एक पत्र / आदेश जारी किया गया है Cheat cheating जिसके अनुसार प्रदेश के सरकारी विद्यालयों में कार्यरत अन्य विषयों के शिक्षकों को 26 से 30 अप्रैल 2022 तक 5 दिवसीय खेलों का आधारभूत प्रशिक्षण दिया गया , जिससे की #मध्यप्रदेश के सभी स्कूलों में खेलों की गतिविधियों को इन 5 दिन में तैयार किये गए शिक्षकों से सुचारू रूप से चलवाया जा सकें।

इस ट्रेनिंग प्रोग्राम में महत्वपूर्ण तथ्यों को सिरे से नज़रंदाज़ किया गया है जिस पर खेलशिक्षको द्वारा सरकार का ध्यान आकर्षित कर रहे।

Cheat cheating मध्यप्रदेश में खेल शिक्षक व खिलाड़ियों से धोंका

Cheat cheating शारीरिक शिक्षा और खेलकूद का विषय पूर्ण रूप से एक विशेषज्ञ के द्वारा पढाया जाने वाला विषय है, जिसमे केवल 5 दिन के प्रशिक्षण से कोई भी शिक्षक इस लायक नहीं बन जाता है की वह इस विषय को पढा सकें और बच्चो को स्कूल में खेल प्रतिस्पर्धा में भाग लेने के लिए तैयार कर सकें।

  1. सवाल यह उठता है कि क्या ? Cheat cheating जिन बच्चो को इन शिक्षकों के द्वारा तैयार किया जाएगा उन बच्चो के अन्दर मौजूद खेलों की प्रतिभा मात्र 5 दिन के प्रशिक्षण प्राप्त शिक्षक निखार देंगे।
  2. यह आदेश शारीरिक शिक्षा में अपना भविष्य तलाश रहे हजारों योग्य युवा शिक्षार्थियों के मनोबल एवं योग्यता पर प्रत्यक्ष प्रहार है। अवांछित व्यवस्था प्रणाली के कारण अनेकों योग्य शिक्षक आवेदन करने की आयुसीमा के बाहर होने के करीब है और अकारण ही योग्यता के बावजूद अयोग्य सिद्ध हो रहे है ।
  3. शारीरिक शिक्षक के कार्य को अन्य विषयों के शिक्षकों से मात्र 5 दिनों के प्रशिक्षण प्रदान कर अनुकूल परिणामों की कल्पना करना, बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड है जीसे देखकर अनजान बने रहने का ठोंग कहा जा सकता हैैै। विषय शिक्षक को शारीरिक शिक्षा में योग्यता न होने के बावजूद उन्हें इस विषय को खेल के शिक्षण की अतिरिक्त जिम्मेदारी देना सम्बंधित विद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के साथ Cheat cheating अन्याय है।
  4. कोई भी विषय या क्षेत्र हो अगर हम समय पर उसमें भर्ती प्रक्रिया आरम्भ नहीं करते तो उस विषय अथवा क्षेत्र विशेष की बेरोजगारी दर दिनप्रतिदिन बढ़ेगी एवं उसमें हम पिछे हो जावेगे।
  5. खेलों में भाग लेने वाले व शिक्षा देने वाले सही शिक्षा नही देंगे व सही शिक्षा ग्रहण नही करेंगे तो आप कैसे किसी से उम्मिद लगा सकते है कि आप प्रदेश एवं देश का खेलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन का सपना पुरा करेंगे। इसका सीधा मतलब यही होता है कि आप अपने आप को धोका दे रहे है, धोंका खा रहे है।
  6. खेलशिक्षकों की इस ज्वलंत #Cheat #cheating समस्या के स्थायी समाधान हेतु युवा खिलाडी जो कही न कही प्रायवेट स्कुल या किसी संस्था में अपना योगदान खेल शिक्षक के रूप में दे रहे है या बेरोजगार है उन सभी खेलशिक्षकों को उस खाली पढे पदो पर भर्ती के लिए सुनिश्चित किया जावे। जीसके लिये युवा शिक्षकों द्वारा आज रतलाम कलेक्टर आफिस पहूच कर अपनी समस्या को बंया करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय शिवराजसिंह चौहान के नाम ज्ञापन देकर आपनी पिढा को बंया किया और नई खेलशिक्षक भर्ती प्रकिया की जावे जिससे प्रदेश लेवल पर खाली पडे पदों पर खेलशिक्षाकों कोे नियुक्त किया जाय। शारीरिक शिक्षा के योग्य शिक्षार्थियों के साथ वर्षों से हो रहे भेदभाव को पूर्ण रूप से समाप्त करने की एवं सभी रिक्त पदों पर स्थायी खेलशिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को आरंभ कर इसे शीघ्रातिशीघ्र #CheatCheating पूर्ण किया जाए।
  7. उक्त बात नवीन सोलंकी खेल शिक्षक एवं उनके साथी नम्रता पाण्डे, हिमांशा शुक्ला, गुलाम मोहम्मद, प्रदिप पंवार, पुनित गुप्ता, सरोज राठोैड, अर्जुन पाटीदार, हेमन्त पोरवाल, प्रवेश परमार, शुभम यादव, मोहन पटेल, राहुल वर्मा ,रोहित वर्मा , आदी खेल शिक्षक उपस्थित थे।
  8. ज्ञापन रूपाली जैन नायब तहसीलदार द्वारा प्राप्त किया
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
100 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.