चैत्र नवरात्री 2022 इस बार दुख दर्द लेकर आयेगी माता, जाने क्या लेकर आयेगी माता, क्या है खास, क्या देगी माता, क्या होगा असर?

0 0
Read Time:4 Minute, 4 Second

Thetimesofcapital/30/03/2022/ नेशनल डेस्क /रतलाम/ चैत्र नवरात्री 2022 इस बार दुख दर्द लेकर आयेगी माता, जाने क्या लेकर आयेगी माता, क्या है खास, क्या देगी माता, क्या होगा असर?

भारत वर्ष में चैत्र नवरात्री इस बार 2 अप्रैल 2022 से शुरू होने जा रही है। जीसे पुरे भारत देश में विशेष तौर पर मनाया जाता है।

इस भारत देश में नवरात्री कुछ विशेष खास रूप में मनाने की तैयारीया चल रही है।

नवरात्री में माता क्या लेकर आयेगी माता क्या है खास क्या देगी माता क्या होगा असर

इस वर्ष चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा 2 अप्रैल 2022 दिन शनिवार को हो रहा है चढ़ती का व्रत 2 अप्रैल को किया जाएगा।

प्रतिपदा से लेकर के नवमी पर्यंत माता भगवती के नौ रूपों की उपासना की जाती है

इस प्रकार कहॉ जा रहा है कि नवरात्र में माता का आगमन घरों में घोड़े पर हो रहा है।

जब भी नवरात्र में माता का आगमन घोड़े पर होता है तो समाज में अस्थिरता तनाव अचानक बड़ी दुर्घटनाए भूकंप चक्रवात आदि से तनाव की स्थिति उत्पन्न हो जाती है ।

आम जनमानस के सुखों में कमी की अनुभूति होती है। इसलिए इस नवरात्र में माता का पूजन अर्चन क्षमा प्रार्थना के साथ किया जाना नितांत आवश्यक है

प्रत्येक दिन विधिवत पूजा के उपरांत क्षमा प्रार्थना किया जाना भी अति आवश्यक होगा लाभदायक होगा।

ऐसे दूर होंगे कष्ट

चैत्र नवरात्री 2022 इस बार दुख दर्द लेकर

इस बार नवरात्री के पश्चात दुख दर्द पीठा से आगमन हो रहा है माता जी का मानने वाला का यही कहना है।

चैत्र नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा की पूजा करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है।

साथ ही व्यक्ति के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं, नवरात्रि के दौरान बहुत से लोग दुर्गा सप्तशती का पाठ करते हैं।

ऐसा करना काफी शुभ माना जाता है शक्ति प्राप्त होती है।

ऐसे करें पूजा अर्चना शुभ मुहूर्त जाने

चैत्र घटस्थापना शनिवार, अप्रैल 2, 2022 को

घटस्थापना मुहूर्त सुबह 06 बजकर 22 मिनट से 08 बजकर 31 मिनट तक
अवधि 02 घण्टे 09 मिनट्स
घटस्थापना अभिजित मुहूर्त दोपहर 12   बजकर 08 मिनट से 12 बजकर 57 मिनट तक

नवरात्र के दौरान क्या नही करना चाहिये

यह काम करना माना जाता है वर्जित।

#चैत्र #नवरात्री #2022 इस बार दुख दर्द लेकर

चैत्र माह में आलस्य भी बढ़ने लगता है। लेकिन चैत्र नवरात्रि में दिन के समय सोना वर्जित होता है।

इससे आलस्य के साथ नकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है।

इस दौरान तामसिक चीजों जैसे लहसुन, प्याज, मांसाहार, शराब, तंबाकू और सिगरेट से दूर रहना चाहिए, इसके अलावा नौ दिनों तक बाल, दाढ़ी और नाखून भी नहीं काटने चाहिए।

इन दिनों चमड़े से बनी चीजों बेल्ट, पर्स, जूते, चप्पल के इस्तेमाल से भी बचना चाहिए।

यह भी पढे :–जानिए अप्रैल 2022 के त्योहार-जयंती-पर्व

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.