“Slingshot”स्लिंगशॉट राष्ट्रिय खेल हो

0 0
Read Time:4 Minute, 26 Second

AURANGABAD WRIT PETITION NO.4694 OF 2018, Slingshot Association of Indian

औरंगाबाद हाईकोर्ट के निर्देश भारत देश का राष्ट्रीय खेल घोषित हो… Slingshot (गुलेल) खिलाडिय़ों में खुशी की लहर..

Thetimesofcapital.com/july2021 Rajesh wasanwal slingshot (गुलेल)खेल भारत देश का राष्ट्रीय खेल घोषित होगा औरंगाबाद महाराष्ट्रslingshot एसोसिएशन ऑफ इंडिया के मुख्य सचिव लव कुमार जाधव द्वारा बताया

औरंगाबाद। slingshot (गुलेल)एसोसिएशन ऑफ इंडिया के मुख्य सचिव लवकुमार जाधव द्वारा औरंगाबाद हाईकोर्ट में 2018 को एक याचिका दाखिल की थी जिस पर आज हाईकोर्ट ने खेल मंत्रालय भारत सरकार और भारतीय ओलंपिक को निर्देश देते हुए कहा क‍ि 2 महीने के अंदर इस पर ऑर्डर दी जाए जिसमें slingshot (गुलेल)को राष्ट्रीय खेल घोषित किया जाए.

क्या कई आयोजन हो चूके है इस खेल के?

कई आयोजन हो चूके है इस खेल के
इस खेल को खेलने वालो के द्वारा कई खेल खेले जा चूके है जिसमें स्टेट लेवल, नेशनल लेवल, इन्टरनेशनल लेवल, वल्र्ड लेवल, के मेचेैस आयोजीत हेां चूके है,

No sport is recognized as a national sport in India.

slingshot 113 देश इसे खेल रहे हैं

मुख्य सचिव लवकुमार जाधव द्वारा बताया गया क‍ि आज तक भारत में किसी भी खेल को राष्ट्रीय खेल की मान्यता नहीं मिली है। इसलिए slingshot (गुलेल)खेल को राष्ट्रीय खेल घोषित करे सरकार क्‍योंक‍ि यह भारतीय पारंपरिक खेल है।

लव कुमार ने आगे बताया कि इस खेल की लोकप्रियता व‍िश्‍वभर में इतनी फैली है क‍ि 113 देश इसे खेल रहे हैं

मध्य प्रदेश slingshot एसोसिएशन स्टेट प्रेसिडेंट डॉ अजय जी तिवारी और प्रदेश सेक्रेटरी नवीन सोलंकी ने इस उपलक्ष्य में बधाई दी है, मिडिया प्रभारी राजेश वासनवाल

याचिका में –

याचिकाकर्ता – एसोसिएशन की शिकायत यह है कि उसके द्वारा 31 मार्च, 2017 और 15 मई, 2017 को प्रतिवादियों को प्रस्तुत किए गए अभ्यावेदनों पर निर्णय नहीं लिया गया है। याचिकाकर्ता खेल “गुलेल” को विभिन्न चैंपियनशिप में शामिल करने की मांग कर रहा है। 4 विवाद की प्रकृति को ध्यान में रखते हुए, हमारे विचार में, निम्नलिखित आदेश पारित करके न्याय के हितों की रक्षा की जाएगी: [i] याचिकाकर्ता – एसोसिएशन आज से दो महीने के भीतर प्रतिवादियों को नया अभ्यावेदन प्रस्तुत कर सकता है, यदि ऐसा सलाह दी जाती है। यदि याचिकाकर्ता द्वारा ऐसा अभ्यावेदन किया जाता है तो संबंधित प्रतिवादी अभ्यावेदन प्राप्त होने की तिथि से दो माह के भीतर इस पर निर्णय लेंगे। 5 नियम को उपरोक्त शर्तों में निरपेक्ष बनाया गया है। परिस्थितियों में, पार्टियों को अपनी लागत खुद वहन करने के लिए। एस.एम.गवाहन न्यायाधीश अदब ज.ए.हक न्यायाधीश

औरंगाबाद में बॉम्बे बेंच के उच्च न्यायालय में 2018 के स्लिंगशॉट एसोसिएशन ऑफ इंडियन की रिट याचिका संख्या 4694, अपने याचिकाकर्ता लवकुमार के माध्यम से कडूबा जाधव, आयु: 32 वर्ष, सचिव औरंगाबाद। याचिकाकर्ता बनाम। 01 सचिव, खेल और युवा मामले मंत्रालय, भारत सरकार, 02 सचिव।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.